कृषक हितों के लिए संवेदनशीलता से कार्य करने की जरूरत - संभागीय आयुक्त





जयपुर: सम्भागीय आयुक्त उदयपुर, श्री भवानी सिंह देथा ने कृषक हित में कृषि उपज मंडियाें के व्यापक स्तर पर सुधारों के साथ ही नवाचारी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि हर हाल में किसानों को उनकी उपज का उचित दाम मिल सके, इसके लिए प्रभावी कार्ययोजना तैयार की जाये।

श्री देथा बुधवार को कृषक हितों में कृषि उपज मण्डी समितियों में सुधारात्मक कदम एवं कृषक कल्याण योजनाओं की प्रभावी क्रियान्विति को लेकर उदयपुर में सम्भाग स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।  

उन्होंने कहा कि मण्डी क्षेत्र में किसानों से व्यक्तिगत वार्ता कर उनकी समस्याओं के निराकरण हेतु गंभीर प्रयास करें। किसानों के लिए हैल्पलाइन खोली जाए, किसानों को दी जाने वाली सूचना के शीघ्र प्रेषण के लिए प्रभावी तंत्र विकसित हों। उन्होंने मण्डी परिसर में किसानों के उत्पाद की सुरक्षा, आवास, भोजन, शुद्ध पेयजल आदि के माकूल प्रबन्ध सुनिश्चित करने पर जोर दिया। 

संभागीय आयुक्त ने राजीव गांधी कृषक साथी योजना के तहत प्रभावित परिवारों को तत्काल भुगतान करने के निर्देश दिए और कहा कि जहां कोई बाधा आ रही है, वहां व्यक्तिगत रुचि लेकर व्यावहारिक हल निकालें। उन्होंने कहा कि मण्डी यार्ड्स के विस्तार के लिए भिजवाए गए प्रस्तावों की सूचना कलक्टर को दी जाए ताकि सरकार की स्वीकृति के लिए उच्च स्तर पर भी प्रभावी प्रयास किये जा सकें। 

श्री देथा ने मण्डियों की व्यवस्थाओं की प्रभावी मॉनिटरिंग करने के निर्देश कृषि विभाग को दिये। उन्होंने मण्डियों में स्टोरेज मॉडल अपनाने एवं किसानों को बिचौलियों से मुक्त रखते हुए उचित दाम दिलाने की आवश्यकता जताई। साथ ही कृषक विश्राम गृहों को और अधिक सुविधाजनक बनाने की दिशा में प्रयास करने पर बल दिया। 

अतिरिक्त आयुक्त(टीएडी) श्रीमती रुकमणि सिहाग ने किसानों की उपज की ग्रेडिंग कर उसका वाजिब मूल्य दिलाने में मण्डी समितियों को अहम भूमिका निभाने की बात कही। आयुक्त देथा ने इसके लिये प्रस्ताव अतिशीघ्र तैयार कर सरकार को भिजवाने को कहा। ग्रेडिंग सिस्टम को सम्भाग की बड़ी मण्डियों उदयपुर, निम्बाहेड़ा व प्रतापगढ़ में प्राथमिक तौर पर लागू किया जाएगा। 

श्रीमती सिहाग ने जनजाति क्षेत्र की मण्डियों में ग्रेडिंग व्यवस्था के लिए आने वाले व्यय को टीएडी विभाग के जरियेे वहन करने का सुझाव दिया। 

बैठक में मण्डी सुधार, नवीन प्रस्ताव एवं स्वीकृत कार्यों की प्रगति को लेकर विस्तार से चर्चा की गई। अधिकारियों ने पीपीटी के माध्यम से मंडी क्षेत्र के विकास एवं भावी कार्यक्रमों को लेकर विस्तार से जानकारी दी। 

Post a Comment

0 Comments