भागवत कथा श्रवण से कल्याण संभव : सुदेवानंद

धोरीमन्ना
क्षेत्र की  ग्राम पंचायत बांड के शहीद अमृतादेवी पर्यावरण एवं वन्यजीव संस्थान में चल रही सातदिवसीय श्रीमद्व भागवत महापुराण एवं जाम्भाणी हरिकथा में दूसरे दिन श्रोताओं की भीड़ उमड़ी ।  कथावाचक संत सुदेवानंद महाराज ने कथावाचन करते हुए कहा कि भगवान का कान से श्रवण, वाणी से कीर्तन, मन से स्मरण करना चाहिए। इसमें निष्ठा आवश्यक है यह मनुष्य का सबसे बड़ा साधन है। धन के लिए धनी से मिलना पड़ता है वैसे ही भक्ति के लिए सच्चे भक्त से मिलना जरूरी है। उन्होंने कहा भक्ति भाव से भगवान श्रीकृष्ण की कथा सुनने वालों की कभी दुर्गति नहीं होती।   कथा के दूसरे दिन सांचोर विधायक सुखराम विश्नोई ने भी संबोधित किया । संबोधित करते हुए विधायक सुखराम विश्नोई ने  लोगों को आदर्श , नशामुक्त एवं संस्कारी जीवन जीने की बात कही।  उन्होंने  शिक्षा पर जोरे देते हुए समाज को आगे बढ़ाने की बात कही। इस अवसर पर शिक्षाविद्व बरींगाराम ढाका , अमलूराम कड़वासरा ,  रमसा एईएन आईदानराम गोदारा , जयकिशन पुनिया , आसुराम कालीराणा , किशनाराम तेतरवाल , अरमान कड़वासरा सहित समाज के कई प्रबुद्वजन  मौजूद  थे।

Post a Comment

0 Comments