कुम्भलगढ दूर्ग पर किया सफारी पथ का लोकार्पण




कुम्भलगढ दूर्ग पर किया सफारी पथ का लोकार्पण पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार की बड़ी संभावना - वन एवं पर्यावरण मंत्री      

जयपुर 17 फरवरी। वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह खींवसर ने कहा है कि राज्य सरकार प्रदेश में पर्यटन स्थलों के विकास के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि देश की बड़ी युवा आबादी के सामने रोजगार की समस्या है। लेकिन पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार के अनेक अवसरों के माध्यम से रोजगार देकर राहत प्रदान की जा सकती है। 
     

वन एवं पर्यावरण मंत्री शुक्रवार को ऎतिहासिक कुम्भलगढ़ दुर्ग पर मुख्यमंत्री बजट घोषणा के तहत कुम्भलगढ वन्यजीव अभ्यारण्य में 45 लाख रूपए की लागत से निर्मित चक्रीय सफारी पथ के लोकार्पण अवसर पर आयोजित समारोह को मुख्य अतिथि पद से संबोंधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि महाराणा प्रताप की जन्म स्थली एवं ऎतिहासिक कुम्भलगढ किले को देखने देश-विदेश से बड़ी संख्या में पर्यटक आते है। उन्होंने कहा कि इस 12 किलोमीटर के पथ निर्माण से पर्यटकों की संख्या बढेगी और लोगों को रोजगार के अवसर सुलभ होने के साथ-साथ क्षेत्र में खुशहाली आएगी। 
     

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में ब्रॉडगेज का कार्य शीघ्र पूर्ण होगा। उन्होंने स्थानीय सांसद एवं जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे कुम्भलगढ दुर्ग में पर्यटकों को विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध कराने तथा अरावली की पहाड़ियों की ओर आकर्षित करने के विभिन्न कायोर्ं के प्रस्ताव बनाकर लाए ताकि इस पर तत्काल आगे की कार्यवाही की जा सके।
 कुम्भलगढ वन्यजीव अभ्यारण्य को नेशनल पार्क घोषित करने के लिए केन्द्र सरकार को भेजे गए प्रस्ताव को ओर आगे बढाने की बात कहते हुए वन मंत्री ने कहा कि सेन्चूरी में पौधारोपण भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सभी को वन और पर्यावरण के साथ-साथ प्रकृति को बचाए रखना होगा और स्वच्छता बनाकर वातावरण को सुन्दर बनाना होगा।      


समारोह को संबोधित करते हुए सांसद श्री हरिओम सिंह राठौड़ ने कहा कि ऎतिहासिक कुम्भलगढ दुर्ग वल्र्ड हेरिटेज में शामिल किया गया है। उन्होंने कुम्भलगढ़ आने वाले देशी विदेशी पर्यटकों को विभिन्न सुविधाएं मुहैया कराने सहित विभिन्न पर्यटन स्थल विकसित करने के प्रस्ताव तैयार करवाए जा रहे है जिसे शीघ्र ही वन मंत्री के समक्ष प्रस्तुत करने की बात रखी। उन्होंने कामलीघाट एवं गौरमघाट को पर्यटन के क्षेत्र में विकसित करने एवं घाट सेक्शन को आकर्षक बनाने की बात भी मंत्री से कही। 
     

इस अवसर पर क्षेत्रिय विधायक श्री सुरेन्द्र सिंह राठौड़ ने दुर्ग पर हुए विभिन्न विकास कायोर्ं एवं आने वाले देशी एवं विदेशी पर्यटकों से मिलने वाले रोजगार से बदल रही क्षेत्र की तस्वीर दिखायी। उन्होंने बेड़च का नाका परियोजना बनाने तथा चारभुजा से लोसिंग सड़क सुधारने का निवेदन किया। 
   प्रारम्भ में मुख्य वन संरक्षक राहुल भटनागर ने पथ की विस्तृत जानकारी दी। समारोह को जिला प्रमुख श्री प्रवेश कुमार सालवी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर प्रधान कुम्भलगढ़ एवं प्रधान देवगढ़ उम्मेद सिंह सहित जनप्रतिनिधि एवं आमजन मौजूद रहे। 
---

Post a Comment

0 Comments