5 दिसंबर को बीकानेर में होगा उपभोक्ता जागृति संभागीय सम्मेलन




जयपुर:
प्रदेश में उपभोक्ता संरक्षण कानून, 1986 की क्रियान्विति, उपभोक्ता आंदोलन को गति देने एवं उपभोक्ता कल्याण क्षेत्रों में चलाये जा रहे कार्यक्रमों के बारे में उपभोक्ता जागृति सम्मेलन के माध्यम से उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए पहला संभागीय सम्मेलन 5 दिसंबर को प्रातः 10 बजे बीकानेर मुख्यालय पर जिला परिषद के सभागार में होगा। 

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे की पहल पर, खाद्य एवं नागरिक आर्पूति मंत्री श्री हेमसिंह भड़ाना के मार्गदर्शन एवं विभाग के प्रमुख शासन सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल के निर्देशानुसार प्रत्येक संभाग मुख्यालय पर राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस 24 दिसम्बर से पहले किसी भी दिवस में उपभोक्ता जागृति सम्मेलन की क्रियान्विति की दिशा में जन-भागीदारी बढ़ाने का काम शुरू कर दिया गया हैं। प्रदेश में सात संभाग मुख्यालयों पर इस तरह के सम्मेलन पहली बार आयोजित हो रहे हैं। 

सम्मेलन में मुख्य वक्ता केन्द्रीय उपभोक्ता संरक्षण परिषद के सदस्य डॉ. अनन्त शर्मा एवं उपनिदेशक श्री संजय झाला होंगे। उपभोक्ता मामले विभाग के निदेशक श्री रामनिवास ने जानकारी दी कि सम्मेलन में स्वैच्छिक संगठनों से सत्त संवाद स्थापित कर उन्हें उपभोक्ता आंदोलन से जोडा जायेगा। इस एक दिवसीय सम्मेलन में संभाग के समस्त उपभोक्ताओं से जुड़े विभाग, जिला मंच के अध्यक्ष एवं सदस्यगण, जिला रसद अधिकारी, प्रबंधक, खाद्य एवं आर्पूति निगम, स्वैच्छिक संगठनों के प्रतिनिधि, विधिक मापविज्ञान, खाद्य सुरक्षा तेल कंपनियों के प्रतिनिधि भाग लेंगे। 

Also Read: ग्रामीण छात्रों को रेलवे में पुनः मिले शून्य बेलेन्स मासिक पास

उन्होंने बताया कि केन्द्रीय उपभोक्ता संरक्षण परिषद के सदस्य एवं केन्स के अध्यक्ष डॉ. अनन्त शर्मा, राज्य उपभोक्ता हेल्पलाईन के प्रतिनिधि, अन्य विषय विशेषज्ञ एवं संबंधित विभागीय अधिकारियों द्वारा उपभोक्ता संरक्षण कानूनों की क्रियान्विति, उपभोक्ता विभाग की विभिन्न योजनाओं की क्रियान्विति में संगठनों की सक्रियता, लीगल मैट्रोलोजी की प्रभावी क्रियान्विति, राज्य उपभोक्ता हैल्पलाईन का प्रचार-प्रसार, खाद्य पदार्थाे में मिलावट के विरूद्ध जागरूकता, भ्रामक विज्ञापन रोकने में संगठनों की भूमिका, विधिक सहायता में जिला मंचों का जुड़ाव, सार्वजनिक वितरण प्रणाली का बदलता स्वरूप और अन्नपूर्णा भंडार की प्रासांगिकता एवं खाद्य सुरक्षा का वर्तमान स्वरूप जैसे विभिन्न बिन्दुओं पर व्यापक चर्चा कर जानकारी दी जायेगी। 

श्री रामनिवास ने बताया कि सम्मेलन के संयोजक संभागीय उपभोक्ता संरक्षण अधिकारी होंगे। बीकानेर जिलें के स्वैच्छिक उपभोक्ता संगठनों के प्रतिनिधि, उपभोक्ता मंचो के सदस्यगण, प्रर्वतन स्टाफ व लीगल मेट्रोलोजी के प्रतिनिधि, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, उपभोक्ता क्लबों, शिक्षा विभाग, महिला संगठन, व्यापारिक संगठन, अधिवक्ता संघ, मीडिया के प्रतिनिधि, स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं, खाद्य एवं नागरिक आर्पूति निगम के प्रबंधक सम्मेलन के सहभागी होंगे। 

श्री संजय झाला ने बताया कि बीकानेर के उपभोक्ता जागृति सम्मेलन में चर्चा के आधार पर प्राप्त महत्वपूर्ण सुझावों पर गहन विचार-मंथन कर उपभोक्ता आंदोलन को मजबूती, राज्य में उपभोक्ता कल्याण कार्याे को त्वरित गति दी जायेगी और प्रमुख शासन सचिव के निर्देशानुसार विभागीय स्तर पर उसी अनुरूप कार्यक्रमों को अधिक प्रभावी ढं़ग से क्रियान्वित किया जायेगा। 

Also Read: ऊंटनी का दूध बना वरदान, कर रहा है कई घातक रोगों पर असर

Post a Comment

0 Comments