दिव्यांगों के लिए उत्कृष्ट कार्य करने पर राष्ट्रपति ने राजस्थान को दिए 3 राष्ट्रीय पुरस्कार





जयपुर: मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे के कुशल नेतृत्व में पिछले तीन वर्ष के दौरान कौशल विकास, स्वच्छता मिशन, ई-गवर्नेंस और सौर ऊर्जा क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित करने के बाद अब राजस्थान ने दिव्यांगजनों के कल्याण एवं उनके सशक्तीकरण के क्षेत्र में नई उपलब्धियां हासिल की हैं। 


राजस्थान को दिव्यांगजन सशक्तीकरण के लिए वर्ष 2016 के 3 राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।  झालावाड़ जिले को सरकारी विभागों, कार्यालयों, सार्वजनिक क्षेत्र इकाइयों तथा नगरीय निकायों में दिव्यांग व्यक्तियों के लिए बाधामुक्त वातावरण तैयार करने की दिशा में उत्कृष्ट कार्य के लिए तथा चित्तौड़गढ़ जिले को दिव्यांगों के लिए पुनर्वास सेवाएं प्रदान करने वाले देश के सबसे अच्छे जिले का पुरस्कार मिला है। 
राजस्थान अनुसूचित जाति-जनजाति वित्त एवं विकास निगम को दिव्यांगों को वित्तीय सहायता देने के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए सर्वश्रेष्ठ राज्य चैनेलाइजिंग एजेंसी का पुरस्कार दिया गया। 



ये पुरस्कार राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने शनिवार को अन्तर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस के अवसर पर भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम में झालावाड़ कलक्टर श्री जितेन्द्र कुमार सोनी, चित्तौड़गढ़ कलक्टर श्री इन्द्रजीत सिंह और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक श्री रवि जैन को प्रदान किए।

Post a Comment

0 Comments