श्रीगंगानगर: शब्दवाणी एवं पर्यावरण संरक्षण पर संगोष्ठी आयोजित

श्री गुरु जम्भवाणी जन जागृति मंच एवं बिश्नोई महासभा श्रीगंगानगर के सयुंक्त तत्वाधान में शब्दवाणी एवं पर्यावरण संरक्षण पर संगोष्ठी आयोजित की
श्रीगंगानगर: श्री गुरु जम्भवाणी जन जागृति मंच एवं बिश्नोई महासभा श्रीगंगानगर के सयुंक्त तत्वाधान में शब्दवाणी एवं पर्यावरण सरक्षण पर संगोष्ठी आयोजित की गयी ।
अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा श्रीगंगानगर के जिलाध्यक्ष सुभाष कड़वासरा ने संगोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए श्री गुरु जाम्भोजी की वाणी में उपदेशित पर्यावरण एवं जीव सरक्षण के सन्देश को अपने जीवन में अपनाने की अपील की ।
संगोष्ठी में ईटीवी राजस्थान के श्रीगंगानगर - हनुमानगढ़ के ब्यूरो प्रमुख रवि बिश्नोई ने अपने विचार प्रस्तुत करते हुए श्रीगुरु जाम्भोजी की शब्दवाणी के अधिकाधिक प्रचार-प्रसार एवं पर्यावरण एवम् जीवों के संरक्षण व सवंर्धन हेतु ठोस प्रयास करने की बात कही।
हंसराज थोरी ने समाज में व्याप्त पाखण्ड , कुरीतियो, अंधविस्वास को त्यागने तथा वैज्ञानिक शिक्षा अपनाने की बात कहीं । श्री रामगोपाल तरड़ ने सबदवाणी के सबदो का सरलार्थ करते हुए श्री गुरु जाम्भोजी के उपदेशो एवं 29 नियमों पर चलने की बात कही । संजय सहारण ने कहा की आजकल बढ़ रहे प्रदूषण के दुष्प्रभावो को कम करने के लिए अधिकाधिक पेड़ लगाने व उनका पालन-पोषण करने का आह्वान किया ।
संगोष्ठी में एड. इंद्रजीत डेलू , संतकुमार पंवार , अरविन्द गोदारा , एड. राजाराम थालोड़ , सुशील गोदारा , एड. रविंद्र सीगड़ , राधेश्याम थानेदार व किसान हित के वरिष्ठ पत्रकार राकेश जांगू ने भी पर्यावरण के बारे में अपने विचार प्रस्तुत किये।
इस अवसर पर विभिन सामाजिक मुद्दों पर चर्चा की गयी व सामाजिक कुरीतियों को त्यागने का संकल्प लिया गया । सगोष्ठी के पश्चात मंदिर परिसर में लगाये हुए पेड़ पौधों को पानी दिया व उनकी सार सम्भाल की गयी
रिपोर्ट - जगदीश कड़वासरा

Post a Comment

0 Comments