गारंटी अवधि की क्षतिग्रस्त सडकों को प्राथमिकता से दुरूस्त करवायें - कलक्टर




जालोर: जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने कहा कि मुख्य मंत्री जल स्वावलम्बन अभियान से जुडे सभी विभाग अभियान के द्वितीय चरण के तहत इस माह में विशेष प्रयास कर किये जाने वाले की आवश्यक स्वीकृतियॉं आदि जारी करें ताकि अभियान प्रारभ्भ में किसी भी प्रकार की परेशानी नही आ सकें।                  जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता बुधवार को कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में साप्ताहिक बैठक मेंं उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थें। उन्होनें कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार मुख्य मंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के द्वितीय चरण के तहत सम्बन्धित विभागों द्वारा जीओ टेगिंग का कार्य पूर्ण होने के साथ कार्यो की आवश्यक स्वीकृतियॉं आदि जारी की जानी है इसलिए इस माह को जल स्वावलम्बन अभियान मानते हुए इस माह में दिपावली के पूर्व शत प्रतिशत कार्य किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होनें समीक्षा के दौरान डिस्कांम के अधीक्षण अभियन्ता एम.एल. मेघवाल को निर्देशित किया कि वर्षा के दौरान लम्बे समय तक विधुत आपूर्ति बन्द रहना अच्छी बात है इसलिए वे अपने अधीनस्थ अभियन्ताओं एवं कार्मिकों को सक्रिय रखते हुए आवश्यक कार्य करें वही सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता एन.के. माथुर से कहा कि जिले में वर्षा के दौरान क्षतिग्रस्त हुई प्रमुख सडकों का पेचवर्क कार्य शीघ्र ही प्रारभ्भ करवायें वही गारंटी अवधि की जो सडके टूट गई है उन्हें सम्बन्धित ठेकेदारों के माध्यम से दुरूस्त करवाये तथा ठेकेदारों को पाबन्द करें कि वे निर्धारित मापदण्ड के अनुसार सडकों को सुधारें तथा भविष्य में इस कार्य पर भी विशेष ध्यान रखें।        
                       जिला कलेक्टर ने प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डा. एस.पी.शर्मा से कहा कि वे जालोर नगर में स्थित सभी छात्रावासों में फोगिंग कार्य करने के साथ ही वहा पर बीमार विद्यार्थियों की रक्त जांच का कार्य करवाकर आवश्यक उपचार आदि भी करें वही निःशक्त लोगों की जांच व प्रमाण पत्र आदि के लिए प्रत्येक माह में कम से कम एक हड्डी विशेषज्ञ की सेवायें जिला मुख्यालय पर सुनिश्चित करें। उन्होनें जलदाय विभाग  के अधीक्षण अभियन्ता निर्मलसिंह कच्छवा को निर्देशित किया कि जिले में वर्तमान में क्रियाशील आर.ओ. मशीनों द्वारा तैयार किये जाने वाले शुद्ध पानी एवं वितरण आदि की पूर्ण जानकारी संकलित कर प्रस्तुत ताकि उसकी उपयोगिता का पत्ता चल सकें। उन्होंने बैठक में कृषि विभाग के भूरालाल पाटीदार को निर्देशित किया कि वे जिले में चल रही गिरदावरी व फसल कटाई के कार्य पर विशेष ध्यान रखते हुए निर्धारित टीम के माध्यम से फसल खराबें का आंकलन भी करवाये। उन्होनें समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक डा. ज्योेति प्रकाश अरोडा को निर्देशित किया कि वे जिले में बकाया छात्रवृत्ति एवं पालनहार के मामलों में विशेष प्रयास कर भुगतान करवायें।  
             
                    बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी जवाहर चौधरी ने कहा कि मुख्य मंत्री जल स्वावलम्बन अभियान में प्रथम चरण की भांति द्वितीय चरण में पूर्ण मनोयोग के साथ कार्य के लिए जुट जाये तथा इसमें किसी भी प्रकार की कोत्ताही नही बरते। उन्होनें समीक्षा के दौरान कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार अब विधायक मद से किसी भी राजकीय भवन की मरम्मत आदि का कार्य भी किया जा सकता है इसलिए आवश्यकता अनुसार कार्य करें। उन्होनें नगर परिषद के आयुक्त टीकमदान चारण को निर्देशित किया कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत नगरीय क्षेत्र में सफाई कार्य पर विशेष ध्यान देते हुए श्रमदान के कार्य भी करवायें। 
          
                         बैठक में वाटर शेड के अधीक्षण अभियन्ता रामचन्द्र चौटरानी
, समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक डा. ज्योतिप्रकाश अरोडा, जिला शिक्षा अधिकारी श्यामसुन्दर सोंलकी व मुकेश सोंलकी सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थें। 
    

Post a Comment

0 Comments