सादगी की प्रतिमूर्ति थे श्री लाल बहादुर शास्त्री - मुख्यमंत्री




जयपुर:  मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. लाल बहादुर शास्त्री की जयन्ती (2 अक्टूबर) के अवसर पर उनका श्रद्धापूर्वक स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने सार्वजनिक जीवन में सादगी और त्याग का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया।     

श्रीमती राजे ने अपने संदेश में कहा कि शास्त्री जी ने देश को ’’जय जवान - जय किसान’’ का नारा दिया। उनके जीवन से हमें तमाम अभावों के बीच सफलता के सर्वोच्च शिखर तक पहुंचने तथा जीवन में कर्मठता के साथ काम करने की प्रेरणा मिलती है। 

उन्होंने प्रदेशवासियों का आह्वान किया कि हमारी महान विभूतियों के जीवन से प्रेरणा लेकर हम देश-प्रदेश के विकास में सहभागी बनें।

Post a Comment

0 Comments